”इंदिरा जी ने कच्ची कॉलोनियों को किया था पास”

  • लाखों झुग्गीवासियों को दिया था 25-25 गज का प्लॉट
  • राजीव भवन में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को उनकी पुण्यतिथि पर दी गई श्रद्धाजंलि

नई दिल्ली। भारत ही नहीं बल्कि विश्व राजनीति के इतिहास में अपनी महान प्रतिभा की अमिट छाप छोड़ने वाली पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 35वीं पुण्यतिथि के मौके पर गुरुवार दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से पार्टी कार्यालय राजीव भवन में उन्हें भावभीनी श्रद्धाजंलि दी गई। इस मौके पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुभाष चौपड़ा ने कहा कि इंदिरा गांधी भारतीय राजनीति की एक सच्ची रहनुमा थी जिन्होंने अपने प्रगतिशील विचारों से भारत को विकासशील देशों में अग्रणी बनाया तथा देश से गरीबी मिटाने के लिए अनेकों ऐतिहासिक फैसले लिए। प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चौपड़ा व अन्य नेताओं ने इंदिरा जी की तस्वीर पर फूलमाला चढ़ा कर उन्हें श्रद्धाजंलि दी।

सुभाष चौपड़ा ने कहा कि इंदिरा जी दिल्ली के विकास के लिए हमेशा तत्पर रहती थी। उन्होंने लाखों झुग्गीवासियों के लिए पुर्नवास कालोनियां बनाई और प्रत्येक को 25-25 गज के प्लाट देकर उन्हें बसाया। दिल्ली की कच्ची कालोनियों को भी पास करने का फैसला भी उनका था और अपने कार्यकाल में सैंकड़ो कच्ची कालोनियों को पास कर लाखों लोगों को छत मुहैया कराई।

श्रद्धाजंलि सभा में प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चौपड़ा के अलावा पूर्व सांसद रमेश कुमार, उदित राज, दिल्ली सरकार की पूर्व मंत्री किरण वालिया, पूर्व विधायक वीर सिंह धींगान, जिला अध्यक्ष कैलाश जैन, ए.आर. जोशी, राजेश जैन, अब्जीत सिंह गुलाटी, पूर्व निगम पार्षद खविंद्र सिंह कैप्टन के साथ निगम पार्षद, जिला व ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व कार्यकर्ता मुख्य रुप से मौजूद थे। प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चौपड़ा ने कहा कि पंडित नेहरु और शास्त्री जी के बाद जब इंदिरा गांधी देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री बनीं तो उनके सामने अनगिनत चुनौतियां थी। गरीबी, भुखमरी, छुआछूत, भौगोलिक, आर्थिक, विज्ञान एवं तकनीकी समेत उच्च शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए ठोस एवं कठोर कदम उठाने की जरुरत थी। उनके व्यक्तित्व की जितनी प्रशंसा की जाए वह कम होगी।

चौपड़ा ने कहा कि स्व. इंदिरा गांधी दुनिया के कुछ चुनिंदा नेताओं में से एक थी जिन्हे दुनिया हमेशा याद रखेगी। उन्होंने भारत को परमाणु शक्ति सम्पन्न तथा पूर्व सोवियत संघ के सहयोग से अंतरिक्ष में वैज्ञानिक गतिविधियों तथा उपलब्धियों में गहरी दिलचस्पी दिखाई जिसकी बदौलत भारत का सिर हमेशा ऊंचा होता गया। उन्होंने कहा कि वह गरीबों से बेहद प्यार करती थी और महिलाओं के विकास के बारे में दिन रात सोचती रहती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *