स्वस्थ बच्चों से ही सशक्त बनेगा देश : डॉ. कफ़ील खान

शिविर में हुआ 1000 से ज़्यादा बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण
निःशुल्क दवा एवं खाद्य सामग्री का किया गया वितरण
सीतामढ़ी संघर्ष समिति एवं इंसाफ मंच ने किया शिविर का आयोजन
सीतामढ़ी। स्वस्थ बच्चे देश के भविष्य हैं और उन्हीं से भारत वर्ष एक सशक्त देश बनेगा। बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के साथ समाज में जागरूकता की जरूरत है। इसके लिए सरकार के साथ पूरे समाज को आगे आना होगा। ये बातें गोरखपुरपुर के मशहूर शिशु चिकित्सक डॉ. कफ़ील खान ने पूर्वांचल पोस्ट से खास बातचीत में कही।
दरअसल, गांधी जयंती के अवसर पर सीतामढ़ी संघर्ष समिति एवं इंसाफ मंच के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित निःशुल्क बाल स्वास्थ्य जांच शिविर सह दवा वितरण कैम्प का सीतामढ़ी जिला के परिहार और बाजपट्टी के मिर्ज़ापुर में किया गया था, जिसमें डॉ. कफ़ील खान पहुंचे। इस दो दिवसीय शिविर में 1000 से ज़्यादा बच्चों का स्वास्थ्य जांच कर दवा दिया गया।
उनके साथ डॉ. आशीष गुप्ता, डॉ. अरशद अंजुम, डॉ. तौसीफ तथा डॉ. तौहीद अनवर मौजूद थे।
श्री गांधी हाई स्कूल परिहार में बच्चे का जांच करते हुए डॉ. कफ़ील खान
डॉ. कफ़ील खान ने कहा कि बच्चों को स्वच्छ वातावरण में रख कर उन्हें विभिन्न रोगों से बचाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि शिविर में ज़्यादातर बच्चे श्वास लेने में दिक्कत, बुखार, वायरल इंफेक्शन, फंगल इन्फेक्शन एवं कुपोषण के कारण होने वाली बीमारी से ग्रस्त मिले, जिन्हें समुचित दवा देने के अलावा आवश्यक परामर्श दिए गए हैं।
सीतामढ़ी संघर्ष समिति के अध्यक्ष मो.शम्स शाहनवाज ने कहा कि इस शिविर के आयोजन का उद्देश्य इलाके के मासूमों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना है। उन्होंने सीतामढ़ी की धरती पर आकर बच्चों के लिए निःशुल्क जांच शिविर लगाने के लिए डॉ. कफ़ील खान और उनकी टीम का धन्यवाद किया।
बाजपट्टी के मिर्ज़ापुर में स्वास्थ्य शिविर आयोजक टीम के साथ डॉ. कफ़ील खान
इंसाफ मंच के प्रदेश उपाध्यक्ष ज़फर आज़म रब्बानी ने डॉ. कफ़ील खान और उनकी टीम, सीतामढ़ी संघर्ष समिति के अध्यक्ष शम्स शाहनवाज और डीपीएमआई की टीम का शुक्रिया अदा किया और भविष्य में भी इस तरह के कैम्प के आयोजन की बात कही।
शिविर को सफल बनाने में मो. आलमगीर, राशिद फहमी, महमूद अंसारी, इम्तेयाज़ जावेद उर्फ प्यारे, गुलाब सिद्दीकी, सेराज अहमद, मो. मक़सूद आलम, अफ़रोज़ आलम, मुश्ताक़ सरवर, मदारीपुर के मुखिया फ़ारूक़ आज़म उर्फ अरमान बाबू, इरफान हसन उर्फ जौहर बाबू, कैश आलम उर्फ भोला बाबू, कमर आज़म, रियाज़ अहमद, नेयाज सिद्दीकी, मो. आफताब आलम, सूरज कुमार सिंह, शम्स गुड्डू, फहद जमा, एहतेशाम रहमानी, मुनव्वर आज़म, सैयद आमिर हुसैन, अकबर आज़म सिद्दीकी, साधु शरण दास, नंद किशोर यादव, पप्पू सिंह, राकेश कुमार विद्यार्थी ने अहम भूमिका निभाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *